Hybrid Funds क्या है | हाइब्रिड फण्ड के प्रकार | Hybrid Funds in Hindi

सितंबर 25, 2019
जब आप म्यूच्यूअल फण्ड में इन्वेस्ट करते है तो क्या आपके मन में भी सवाल आता है कि आपको इक्विटी फण्ड मे इन्वेस्ट करना चाहिए या फिर डेट फण्ड में | तो चलिए आज समस्या का भी समाधान करते है और जानते है हाइब्रिड फण्ड के बारे में |
Hybrid Mutual Funds in Hindi

Hybrid Funds क्या है ( Hybrid Funds in Hindi)

हाइब्रिड फण्ड, म्यूच्यूअल फण्ड निवेश का एक विकल्प है जो आपको डेट, इक्विटी व अन्य एसेट क्लास में निवेश करने की सुविधा देता है | इसमें न तो रिस्क ज्यादा होता है और न ही रिटर्न ज्यादा होता है मतलब हाइब्रिड फण्ड मीडियम रिस्क के साथ मीडियम रिटर्न देता है |

अगर आप इक्विटी फण्ड में निवेश करते है तो इसमें सही ज्ञान न होने से पैसे डूबने का जोखिम होता है व इसके साथ ज्यादा रिटर्न भी मिल सकता है जबकि डेट फण्ड में कम रिस्क होने के कारण रिटर्न भी कम होता है

हाइब्रिड म्यूच्यूअल फण्ड में इक्विटी व डेट दोनों एसेट में निवेश किया जाता है | इसका मतलब हाइब्रिड फण्ड डेट व इक्विटी एसेट का मिक्सचर होता है इसलिए hybrid mutual funds में इक्विटी फण्ड से कम रिस्क और डेट फण्ड से ज्यादा रिस्क होता है |

Hybrid Funds के प्रकार

इक्विटी या डेट में इन्वेस्ट करने के आधार पर हाइब्रिड फण्ड को कई केटेगरी में रखा गया है | ये केटेगरी म्यूच्यूअल फण्ड वर्गीकरण नॉर्म का अनुशरण करती है जो निम्नलिखित है |

Aggressive म्यूच्यूअल फण्ड - इसमें 15% से 35% फण्ड डेट इंस्ट्रूमेंट और शेष इक्विटी में निवेश किया जाता है इसलिए इस फण्ड में थोड़ा सा रिस्क होता है |

Balanced म्यूच्यूअल फण्ड - इस फण्ड में 40% से 60% के बीच का कॉम्बिनेशन रख कर लक्ष्य के आधार पर इक्विटी व डेट सिक्योरिटीज में निवेश किया जाता है |

Conservative म्यूच्यूअल फण्ड - इसमें केवल 10% से 25% पैसा ही इक्विटी में निवेश किया जाता है और शेष फण्ड डेट इंस्ट्रूमेंट में लगाया जाता है ताकि निवेशकों का पैसा सुरक्षित रहे क्योकि इसमें बहुत ही कम रिस्क लेने वाले व्यक्ति निवेश करते है |

Dynamic एसेट एलोकेशन फण्ड - यह फण्ड फ्लेक्सिबल होता है मतलब किसी भी सिक्योरिटीज डेट या इक्विटी में निवेश करने का कोई फिक्स्ड स्ट्रक्चर नही होता है |

Equity सेविंग फंड्स - इस फण्ड का 65% भाग इक्विटी में लगाया जाता है और कम से कम 10% भाग डेट सिक्योरिटीज में एलोकेट किया जाता है |

Multi-एसेट एलोकेशन फण्ड - इस फण्ड में डेट, इक्विटी व अन्य एसेट क्लास में निवेश किया जाता है | इसमें सभी एसेट क्लास में कम से कम 10% एलोकेशन किया जाता है |

Arbitrage फण्ड - आर्बिट्राज फंड एक हाइब्रिड फण्ड होता है | इस फण्ड का 65% हिस्सा इक्विटी (कंपनियों के शेयर) या इक्विटी से जुड़े इंस्ट्रूमेंट में लगाया जाता है | इसा फण्ड का पैसा इक्विटी में लगाये जाने के कारण रिस्क अधिक होता है इसलिए इसमें बेहतर रिटर्न मिलने की सम्भावना होता है |


Share this :

Previous
Next Post »