मंथली इनकम प्लान क्या है और कैसे काम करता है | Monthly Income Plans Hindi

क्या आप जानते है मंथली इनकम प्लान क्या है? और Monthly Income Plans से हर महीने आप कैसे इनकम कर सकते है? तो चलिए आज जानते है मंथली इनकम प्लान कैसे काम करता है और आप किस तरह से इसका फायदा उठा सकते है |
Monthly Income Plans hindi

मंथली इनकम प्लान क्या है (Monthly Income Plans)

इस प्रकार के म्यूच्यूअल फण्ड, हाइब्रिड फण्ड होते है, जिसमे निवेश किया गया पैसा, डेब्ट, इक्विटीज आदि में लगाया जाता है |

इस तरह के फण्ड में डेब्ट व इक्विटी रेश्यो 80:20 का होता है, जो इसे एक डेब्ट आधारित फण्ड बना देती है |

मंथली इनकम प्लान का ज्यादा पैसा (80%) डेब्ट सिक्योरिटीज में लगाये जाने के कारण यह फण्ड कम रिस्क व कम रिटर्न वाले हो जाते है, जबकि (20%)इक्विटी में लगाये गये पैसे थोड़े बेहतर रिटर्न देते है |

मंथली इनकम प्लान में जो इनकम एक निवेशक हर महीने उम्मीद करता है वह इनकम पूरी तरह से अतिरिक्त (सरप्लस) मनी होने पर ही निवेशकों में बांटा जाता है|

जिस प्रकार स्टॉक में निवेश करने से शेयर होल्डर्स को प्रॉफिट का कुछ हिस्सा (ज्यादा प्रॉफिट होने पर) समय-समय में डिविडेंड के रूप में दिया जाता है, ठीक उसी प्रकार हाइब्रिड फण्ड मतलब Monthly Income Plans में भी दिया जाता है |

"मंथली इनकम प्लान" सुनने से लगता है कि इस प्रकार के फण्ड में हर महीने निवेशकों को इनकम दिया जाता होगा लेकिन अगर सरप्लस मनी (अतिरिक्त प्रॉफिट) नही है तो निवेशकों को इनकम नही मिलती है |

म्यूच्यूअल फण्ड में बाजार आधारित रिस्क होते है इसलिए Monthly Income Plans के रिटर्न या इनकम भी बाजार के रिस्क पर डिपेंड होते है |

मंथली इनकम प्लान में निवेश करने से पहले ध्यान रखें


  • इस फण्ड में हर महीने इनकम की कोई गारंटी नही है क्योकिं यह बाजार रिस्क पर आधारित है |
  • इस फण्ड का पैसा 80% डेब्ट सिक्योरिटीज व 20% इक्विटी में लगाया जाता है|
  • मंथली इनकम प्लान में डेब्ट व इक्विटी निवेश होने के कारण रिस्क व रिटर्न बैलेंस्ड होता है |

Share this :

Latest
Previous
Next Post »
0 Comments