Showing posts with label स्टॉक मार्केट. Show all posts
Showing posts with label स्टॉक मार्केट. Show all posts

डीमैट अकाउंट क्या है | डीमैट अकाउंट कैसे खोलते है | Demat Account in Hindi

Demat Account in Hindi: डीमैट अकाउंट(Demat Account) क्या है? और इसे कहा व कैसे खोलते है ?

Demat Account in hindi

Demat Account क्या है?

डीमैट अकाउंट एक ऐसा अकाउंट है जो बैंक अकाउंट की  तरह ही होता है इसमें फर्क यह है कि आप बैंक अकाउंट में पैसे रखते है  जबकि डीमैट अकाउंट में शेयर रखा जाता है |

डीमैट अकाउंट में आपको शेयर मार्केट से  शेयर खरीदनें के लिए ही पैसे रखने होते है पर इसमें कोई भी मिनिमम बैलेंस रखने की जरुरत नही है |

जिस प्रकार हम किसी अच्छे बैंक में खाता खोलते है उसी प्रकार डीमैट अकाउंट खोलने के लिए आपको एक अच्छा सा स्टॉक ब्रोकर चुनना होता है जो आपको अच्छी सर्विसेस देता हो |

Demat Account कैसे  खोले ?

अगर आप डीमैट अकाउंट खोलना चाहते है तो कुछ Documents की आवश्यकता होंगी या आप उन डॉक्यूमेंट का प्रयोग कर सकते है जिनसे आपने अपना बैंक अकाउंट खोला था |
  • पैन कार्ड 
  • आधार कार्ड
  • एक फ़ोटो
वही आपको एड्रेस प्रूफ के लिए इनमे से कोई एक डाक्यूमेंट्स देने की आवश्यकता होंगी:
  • वोटर कार्ड
  • राशन कार्ड 
  • ड्राइविंग लाइसेंस
  • इलेक्ट्रीसिटी बिल 
  • पासपोर्ट 
व इनकम प्रूफ के लिए जरुरी डाक्यूमेंट्स
  • कैंसल चेक ( Cheque ) कॉपी
  • या बैंक स्टेटमेंट
इन डाक्यूमेंट्स में से आपको स्टॉक ब्रोकर केवल पैन कार्ड, आधार कार्ड, फ़ोटो, व इनकम प्रूफ के लिए चेक, बैंक स्टेटमेंट की मांग कर सकता है |



भारत में बहुत से स्टॉक ब्रोकर है उनमे से कुछ मुख्य है :
  • Angel Broking
  • 5 Paisa
  • Samco
  • ShareKhan LTD
  • Zerodha
वही आपको कई बैंक भी मिल जायेंगे जो स्टॉक ब्रोकर सर्विसेस देते है :
  • Kotak Securities LTD
  • ICICI Securities LTD
  • SBI (State Bank of India )
  • Axis Securities LTD
  • HDFC Securities LTD
हमने मुख्य स्टॉक ब्रोकर को इस लिस्ट में शामिल किया है |

इंडिया में SEBI (Securities Exchange Board of India) के निर्देशानुशार Demat account केवल दो संस्थाओ के द्वारा खोले जाते है:
  • Central Depository Services Limited (CDSL)
  • National Securities Depository Limited(NSDL)
आपको डीमैट अकाउंट खोलने के लिए डायरेक्ट इन दोनों संस्थाओ के पास जाने की जरुरत नही है आप अपने मनपसंद स्टॉक ब्रोकर या बैंक के पास जाकर अपना demat account खुलवा सकते है |


डीमैट अकाउंट खोलने के लिए स्टॉक ब्रोकर या बैंक आपसे मामूली सी (400 से 500 रूपयें ) फीस लेंगे जो केवल अकाउंट ओपन करते वक़्त ही लगेगा |

वही आपको हर साल आपकी Demat Account में दी जा रही सेवाओं के लिए Annual maintanence Charge लिया जायेगा जो (1रु) प्रतिदिन  हो सकता है |

डीमैट अकाउंट खोलने से पहले कुछ बातों का ध्यान रखें 

  • एक अच्छा स्टॉक ब्रोकर चुने |
  • स्टॉक ब्रोकर कम से कम या जीरो ब्रोकरेज  (सर्विसेस के लिए चार्ज ) ले रहा हो |
  • फुल सर्विस ब्रोकर हर महीनें स्टॉक टिप्स के नाम पर चार्जर्स लेते है | अतः आप जीरो ब्रोकरेज को चुन सकते है |


Investing क्यों करे | Investing in Hindi

एक व्यक्ति के लिए निवेश जरुरी क्यों (Benefits of Investing) है, क्या हमें निवेश से लाभ होगा ?
Investing in hindi

Investing जोखिमों से भरा नहीं है

न जाने क्यों निवेश का नाम सुनते ही लोगों को डर लगने लगता है ये वही लोग होते है जो सबके सामने बड़ी बड़ी बातें करते रहते है |

कई लोगों से आपने सुना होगा कि निवेश रिस्की होता है तो आपको ये जानकारी अवश्य होनी चाहिए कि

निवेश रिस्की नहीं है |

आप मुझे कुछ सवालो का जवाब दे फिर आप ही मुझे बताना की निवेश रिस्की है क्या ?

पहला सवाल : जब आप 2-3 साल के छोटे बच्चे थे तो क्या आप सीधे दौड़ने लगे थे या फिर आपने पहले चलना सिखा ?

दूसरा सवाल: क्या पहली बार जब आप किसी नदी , तालाब, स्विमिंग पुल आदि में नहाने गये थे तो आपको तैरना आता था ?

आप न तो दौड़े थे और न ही आपको तैरना आता था, है न |

आप पानी में जाने से डरते थे

फिर कुछ दिनों या सालो के बाद आपने दौड़ना और तैरना दोनों सीख लिया होगा |

अब आप मुझे बताये क्या जब आपको तैरना नही आता था तो ये आपके लिए रिस्की नही था , था न |

ठीक इसी प्रकार निवेश या Investing भी है, जब आप शुरु करते है तो आपको डर लगता है लेकिन धीरे धीरे जब आप निवेश के बारे में जानने लगते है तो आपका डर कम हो जाता है | और इन्वेस्टिंग आपको बहुत आसन लगता है |

Investing के लाभ

रोबर्ट टी कियोसाकी ने अपने किताब में लिखा है: " निवेश  आर्थिक स्वतंत्रता की कुंजी (key) है "

निवेश के कुछ महत्वपूर्ण लाभ है :
  1. आर्थिक रूप से मजबूत होने के लिए (Financial Freedom)
  2. अपने बच्चों के बेहतर शिक्षा और परवरिश के लिए
  3. विदेश यात्रायें करने (घूमने) के लिए 
  4. दौलत इकठ्ठा करने के लिए 
  5. बेहतर रिटायरमेंट के लिए (Retirement Planning)
  6. भविष्य में काम से छुटकारा पाने के लिए
म्यूच्यूअल फण्ड क्या है?
म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश कैसे करें?

म्यूच्यूअल फण्ड एनएवी क्या है | नेट एसेट वैल्यू काम कैसे करता है | Mutual Fund NAV in Hindi
क्या है म्यूच्यूअल फण्ड एनएफओ | न्यू फण्ड ऑफर के सारे राज | Mutual Funds NFO in Hindi

SIP या Lumpsum बेहतर रिटर्न किसमे मिलता है?

शेयर बाजार क्या है?
शेयर बाजार में निवेश कैसे करें?

Investing क्या है | Investment in Hindi

निवेश क्या है (what is investing ) और लोग निवेश क्यों करे ?

Investing image

Investing क्या है?

निवेश की परिभाषा: जब भी कोई व्यक्ति अपने धन का प्रयोग किसी ऐसें  वस्तु या संपत्ति (Assets) खरीदनें के लिए करता है जिससे आने वाले भविष्य में आय (Income) की प्राप्ति होती है   उसे निवेश या investing कहा जाता है |
यह एक ऐसा तरीका है जो कई लोगों को धनवान बना देती है और जो निवेश नही करते उन्हें हाथ कुछ नहीं आता |

रोबर्ट टी कियोसाकी ने अपने किताब में लिखा है: " निवेश  आर्थिक स्वतंत्रता की कुंजी (key) है "

हमारें जीवन में निवेश करना सीखना बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि निवेश  आर्थिक सफलता की कुंजी (key) है और  जो निवेश नही करते है उनके साथ ये चार चीजें अवश्य होती है 

  • उन्हें जीवनभर कड़ी मेहनत करनी पड़ती है 
  • वे पैसो को लेकर जीवनभर चिंतित रहते है 
  • वे अपने परिवार, कंपनी और सरकार के ऊपर निर्भर होते है 
  • वे सच्ची आजादी को कभी नहीं जानेंगे 

Investing से पहले कुछ बातों का ध्यान अवश्य रखे 

अपने धन को किसी भी जगह इन्वेस्ट (निवेश ) करने से पहले कुछ सावधानि जरुर रखे -

  •  फर्जी योजनाओं (Scheme) से बचकर रहें 
  •  निवेश के बारे में सीखते रहें 
  •  पैसा से ज्यादा पैसा बनाने के लिए निवेश लम्बे समय तक करे 

Return on Investment

जब हम निवेश (Investment) करते है तो उस इन्वेस्टमेंट से होने वाला लाभ ही Return on Investment या निवेश में लाभ कहलाता है |

हमें इन्वेस्टमेंट या निवेश का लाभ लंबी अवधि (समय ) में अधिक मिलता है इसलिए कोई भी किया गया इन्वेस्टमेंट लम्बें समय के लिए करे |

हां इस बात का ध्यान अवश्य रखें कि कोई भी इन्वेस्टमेंट पर रिटर्न हमेशा अच्छा नही होता है लेकिन निवेश का लाभ पूरी तरह से आपके ज्ञान पर निर्भर करता है | आपको जितना ज्यादा ज्ञान उतना ज्यादा आपका रिटर्न होगा|

रिटर्न = कुल पूंजी - निवेशित पूंजी 

निवेशित पूंजी: ये आपका लगाया गया धन है |
कुल पूंजी:  ये आपकी पूंजी और रिटर्न होता है |
रिटर्न: कुल पूंजी में लगाये धन को हटा ले तो निवेश का लाभ (रिटर्न ) मिलता है |

इस पोस्ट को उन सात लोगों को भेजें जिन्हें आप Investing  सिखने में मदद करना पसंद करेंगे :)

शेयर बाजार में निवेश कैसे करे | Share Market me Invest Kaise Kare

Share Market me Invest Kaise Kare: स्टॉक मार्केट एक ऐसा बाजार है जहा आप कम्पनियों के शेयर खरीदी बिक्री करते है पर यदि आपको नही पता है कि स्टॉक मार्केट में निवेश कैसे करे तो इस   पोस्ट को पढ़ने के बाद आप आसानी से स्टॉक मार्केट में निवेश कर सकते है |
Share Market me Invest Kaise Kare

ShareMarket में निवेश क्यों करे

कई लोग को सवाल पूछते सुना है कि हमें स्टॉक मार्केट में निवेश क्यों करना चाहिए ऐसा इसलिए है क्योंकि वे इन महत्वपूर्ण बातों को जानते नही है :

  1. आर्थिक रूप से मजबूत होने के लिए (Financial Freedom)
  2. अपने बच्चों के बेहतर शिक्षा और परवरिश के लिए
  3. सेविंग बैंक अकाउंट से ज्यादा ब्याज लेने के लिए
  4. विदेश यात्रायें करने (घूमने) के लिए 
  5. दौलत इकठ्ठा करने के लिए 
  6. बेहतर रिटायरमेंट के लिए (Retirement Planning)
  7. भविष्य में काम से छुटकारा पाने के लिए

Share Market me Invest Kaise Kare

स्टॉक मार्केट में निवेश करना बहुत आसान है जैसे आप कोई भी सामान अमेज़न या फ्लिप्कार्ट से ऑनलाइन खरीदते है |

लेकिन स्टॉक या शेयर को खरीदने या बेचने के लिए आपके पास कुछ जरुरी चीजों  की आवश्यकता होती है |

जैसेः
  •  पैन कार्ड (PAN Card )
  • बैंक अकाउंट (Bank Account )
  • डिमेट अकाउंट ( Demat Account )
  • ट्रेडिंग अकाउंट (Trading Account )

अगर आप जानना चाहते है कि स्टॉक मार्केट में निवेश करने के लिए इन चीजो की आवश्यकता क्यों है तो आप स्टॉक मार्केट क्या है (What is stock market in Hindi) पोस्ट पढ़ सकते है |

Share Market में निवेश करने से पहले कुछ बातों का ध्यान रखे

1. Share Market या स्टॉक मार्केट में निवेश करने से पहले एक अच्छा ब्रोकर चुने जो शेयर को Buy और Sell करने की कम से कम फीस लेता हो |

2. आपको शेयर मार्केट की बेसिक जानकारी होनी चाहिए |

3. किसी कंपनी के शेयर को खरीदने से पहले Fundamental Analysis (अच्छे से जांच ) जरुर करे|

4. अपना इन्वेस्टमेंट लक्ष्य जरुर बनाये |

5. आपको जो कंपनी आसानी से समझ में आती है उसी कंपनी में Invest करे 

6. किसी दुसरें के टिप पर कोई कंपनी के शेयर  न खरीदें, अपना इन्वेस्टमेंट रिसर्च खुद करे |

7. शेयर मार्केट में उतार चढ़ाव आते रहता है इससे घबरायें नहीं | एक बेहतर निवेशक की यही निशानी है |

8. अपने आसपास इस्तेमाल में लाये जा रहें कंपनियों को एक निवेशक की दृष्टिकोण से देखें |

9. स्टॉक मार्केट में शेयर खरीदने का मतलब कंपनी में हिस्सेदारी खरीदना है इसलिए अच्छी कंपनियों के शेयर को ख़रीदे |

शेयर बाजार क्या है | शेयर कैसे खरीदते है | Share Market in Hindi

Sharemarket in Hindi:क्या आप जानते है ? ShareMarket क्या है ?

sharemarket in Hindi

बहुत से लोगो के द्वारा आपने सुना होगा की शेयर मार्केट में पैसा लगाकर आप अमीर बन सकते है |

आज ऐसे कई लोग है जो share market में निवेश करके करोड़पति बन गए है |
कुछ स्पेशल नामों में शामिल है -

वारेन बुफे (अमेरिकी नागरिक ) : इन्होने share market में निवेश करके अपनी इतनी संपत्ति बनाई कि एक समय दुनिया के सबसे धनी इन्सान बन गये |

रामदेव अग्रवालराकेश झुनझुनवाला: ये भारतीय है जिन्होंने स्टॉक मार्केट से करोड़ों रुपये कमाए |

यह नामों की सुची बहुत लंबी है जिनमें से मैंने कुछ लोगों के बारे में बताया है|

तो चलिए  अब स्टॉक मार्केट के बारे में जानते है |

Share Market क्या है ?

Sharemarket या शेयर बाज़ार एक ऐसा बाजार है जहा पर शेयर (कंपनी का हिस्सा ) की खरीदी और बिक्री की जाती हैं |

जब भी कोई कंपनी अपने व्यापर को बढ़ाना चाहती है जैसे नये नये ब्रांच (शाखायें) खोलना, अपनें प्रोडक्ट्स को विदेशों में बेचना आदि

तब कंपनी को बहुत बड़ी मात्रा में पैसो की जरुरत होती है लेकिन कम्पनी के पास पर्याप्त धन न हो तो वह कंपनी अपना विस्तार नहीं कर सकती है|

इसका मतलब Sharemarket एक जरिया है जहा से कंपनी बड़ी पूंजी आम जनता से ले सकती है |

कोई भी कंपनी जनता से डायरेक्ट पैसा नही ले सकती है इसलिए इसका एक सिस्टम (स्टॉक एक्सचेंज ) बनाया गया है

जिसे स्टॉक मार्केट या शेयर बाजार भी कहते है |

स्टॉक एक्सचेंज (Stock Market/Exchange )

स्टॉक एक्सचेंज वह जगह है जहा कंपनी अपने share को जनता के लिए लिस्ट या उपलब्ध कराती है|

भारत में केवल दो ही बड़े स्टॉक एक्सचेंज है|

1. बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE)
2. नेशनल स्टॉक एक्सचेंज(NSE)

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE): यह एशिया का पहला स्टॉक एक्सचेंज है जिसे सन 1875  में स्थापित किया गया  इसमें 5000 से अधिक कंपनिया लिस्ट की जा चुकी है | यह दलाल स्ट्रीट मुंबई में स्थित है |

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE): यह भारत का लीडिंग स्टॉक एक्सचेंज है इसमें 1600 से अधिक कंपनिया लिस्टेड है |

Share कैसे ख़रीदे?

क्या आपको पता है की share को ख़रीदा और बेचा कैसे जाता है सबसे पहले आइये जानते है कि आपको share खरीदने के लिए किन किन चीजों की आवश्यकता होगीं :

पैन कार्ड (PAN Card )
बैंक अकाउंट (Bank Account )
डीमेट अकाउंट ( Demat Account )
ट्रेडिंग अकाउंट (Trading Account )

पैन कार्ड (PAN Card ): पैन कार्ड भारत सरकार के आयकर विभाग द्वारा बनाया जाता है  आपकी इनकम की जानकारी रखी जा सके , अगर आप के पास पैन कार्ड नही है तो आप इसे आसानी से बनवा सकते है |

बैंक अकाउंट (Bank Account ): किसी भी बैंक में खोला गया सेविंग अकाउंट को आप इस्तेमाल कर सकते है| ताकि आप आसानी से शेयर की Buy और Sell करने के लिए Demat Account में पैसे डाल सके |

डीमेट अकाउंटDemat Account ): डीमेट अकाउंट एक ऐसा अकाउंट है जो बैंक अकाउंट की  तरह ही होता है इसमें फर्क यह है कि आप बैंक अकाउंट में पैसे रखते है  जबकि डीमेट अकाउंट में share रखा जाता है |

ट्रेडिंग अकाउंट (Trading Account ): ट्रेडिंग अकाउंट की आवश्यकता शेयर   की खरीदी व बिक्री के लिए होती है | इसे आप उसी   ब्रोकर के पास खोल सकते हो जहां आपने डिमेट अकाउंट खुलवाया हैं |

अगर आपके पास ये सब है तो आप share market में आसानी के साथ निवेश एवम् लाभ ले  सकते है |

ये भी पढ़ें:

शेयर बाजार में निवेश कैसे करें?
मल्टीबैगर स्टॉक कैसे सर्च करें?

डीमैट अकाउंट क्या है?
ब्लू चिप कम्पनी क्या है?
पेनी स्टॉक क्या है?